क्या आपने कभी बिना सर का जिन्दा मुर्गा देखा?

Facebook Google+ PInterest Twitter

क्या आपने कभी बिना सर का जिन्दा मुर्गा देखा? क्या आपने कभी बिना सर का जिन्दा मुर्गा देखा?


सूत्रों के अनुसार-  अजब-गजब चौंकाने वाली घटनाएं दर्ज हैं। अब इस घटना को ही ले लीजिए... एक मुर्गा बिना सिर के जिंदा रहा। आप सोच रहे होंगे कि जब कसाई मुर्गे का सिर काटता है तो कुछ देर गर्म खून की होने की वजह से वह फड़फड़ाता है। लेकिन यह मामला बिल्कुल अलग है। इसे आप चमत्कार ही समझिए कि यह मुर्गा बिना सिर के डेढ़ साल से तक जिंदा रहा। हालांकि कई लोग इसे अब भी कोरी बकवास ही समझेंगे। लेकिन अगर आप इंटरनेट की मदद से इसकी पड़ताल करेंगे तो इस मामले से जुड़े कई चौंकाने वाले तथ्य सामने पाएंगे। 'ऐसा हो ही नहीं सकता' यह सोचने वाले एक बार इस बारे में जरूर इंटरनेट पर जांच पड़ताल करें। शायद आपको यह बात कुछ हज्म हो जाए। दरअसल, ऐसा वास्तव में हुआ है। इतिहास में दर्ज यह घटना अमेरिका के कोलाराडो की है। यहां ल्योय्ड ओस्लेन नामक शख्स पॉल्ट्री फॉर्म चलाते थे। एक रिपोर्ट के मुताबिक 18 सितंबर 1945 को दावत के लिए उसने एक मुर्गा काटा। लेकिन गलती से उसने मुर्गे को बॉक्स में डालने की जगह साइड में रख दिया, थोड़ी देर बाद जब उसने देखा तो मुर्गा वहां से गायब था।  माइक नामक इस मुर्गे को काटने के दौरान ल्योय्ड ने गलती की थी जिससे मुर्गे माइक के सिर का अगला हिस्सा कटा था, लेकिन नसे और एक कान बचा रह गया होगा। इसकी मदद से वह सांस ले पाता था। ल्योय्ड को मुर्गे पर दया आ गई और वो उसे ड्रॉप के जरिए दूध और मक्का के दाने देने लगा।  ये अजूबा लोगों के आकर्षण का केंद्र बन गया, लोग दूर-दूर से उसे देखने आने लगे। ल्योय्ड एक ऐसी मनोरजंन कंपनी से जुड़ गया जो घूम-घूम कर जानवरों के शो दिखाती थी, इससे ल्योय्ड को अच्छी खासी कमाई होने लगी। इसके बाद वह अखबरों और एक फेमस मैग्जीन ने भी ल्योय्ड का इंटरव्यू और मु्र्गे माइक के फोटो पब्लिश किए। सोचिए उस दौर में मुर्गे की कीमत दस हजार डॉलर लगाई गई थी।

Facebook Google+ PInterest Twitter